What does learn from the Bala Movie?

आप में से सभी लोग शायद movies के दीवाने जरूर होंगे अगर बात की जाए 100 में से तो 90% लोगों की इसमें हां होगी, देखिए हर फिल्म हमें कुछ न कुछ सिखा कर जाती है, चाहे वह जीवन का सकारात्मक भाग हो या फिर नकारात्मक अब यहां पर निर्भर करता है कि आपका कौन सा नजरिया है, फिल्म को देखने का.

वैसे तो आजकल के बच्चे बस गानों पर थिरक जाते हैं और उसी के मजे लेते हैं जो कि बिल्कुल गलत है कोई भी Director अगर फिल्म बनाता है या फिर कोई भी writers इस फिल्म को लिखता है इतना सोच समझ कर देता है आप यह कल्पना भी नहीं कर सकते हो हमेशा चाहता है कि उसकी कहानी ऐसी हो जो पूरी फिल्म Industry को हिला कर रख दे और हर लेखक आज के वक्त में वही कोशिश करता है आजकल में हम आपको बताने जा रहे हैं Bala movie के बारे में आखिर उस मूवी में ऐसा क्या था जो लोगों को पसंद आया.

Bala Movie

आपने अपने आसपास ही भेदभाव जरूर होगा यह फिल्म किसी चीज पर आधारित है, कोई आपके आसपास मोटा होगा तो कोई पतला कोई कान कम सुनता होगा कोई आंख कम देखता होगा कोई चश्मा का प्रयोग करता होगा बस हमारा क्या है, हमें तो बस उनका नाम रखना आना चाहिए मैं यह नहीं कह रहा हूं यह पूरी तरह से गलत है लेकिन किसी को इस हद तक महसूस नहीं कराना चाहिए कि वह अगर काला है तो, जीवन में कुछ भी नहीं कर पाएगा सीमा तक अगर आप उनसे मजाक करते हैं.

अच्छा है यही तो हमारा बचपन है और हमारे पूरे जीवन भर में जुड़ी रहती है लेकिन कुछ लोग उन लोगों का मजाक उनके कैरियर से संबंधित करते हैं जो कि बहुत गलत बात है देखा जाए तो हमारी संस्कृति में यह कहा जाता है कि, काले लोगों का भाग्य अच्छा होता है और आपने अपने आसपास जो देखा भी होगा कि अक्सर शादी के लिए सांवली लड़कियां ढूंढ जाते हैं अब यहां पर मैं किसी प्रकार की कोई टिप्पणी नहीं करना चाहता हूं आपको एक फिल्म का दे रहा हूं कि, उसमें कैसे व्यक्ति जो कि शुरुआत में बहुत शर्म आता है कि आखिर मेरे बाल क्यों नहीं है, लेकिन जब उसे एहसास होता है कि यह सिर्फ एक बनावट है और हमें इसे स्वीकार ना चाहिए.

Want to do top in Exam – Click Here

What we can Learn?

उस फिल्म में जो लड़की आयुष्मान से शादी करती है वह भी गलत नहीं होती है, क्योंकि बाला ने उससे झूठ कहा था और शादी से पहले का गया झूठ सच मानो आपकी जिंदगी तबाह कर सकता है, हमें अपने प्यार के सामने कभी भी कोई बात नहीं छुपानी चाहिए हम जैसे हैं वैसे ही उनके सामने रहें इससे यह होगा कि शादी के बाद वह हाथ में कोई भी परिवर्तन नहीं देखेंगे और आपकी वैवाहिक जीवन खुशहाल मई रहेगी.

लेकिन इस फिल्म में और भी बहुत अच्छी चीजें थी जैसे बाला को पूरे परिवार वालों का साथ मिल रहा था, ऐसा बहुत कम परिवारों में देखा जाता है कि एक बेटे को कोई इतना सपोर्ट कर रहा है, वह भी उम्र के इस पड़ाव में शुरुआत में अगर इस फिल्म को देखें तो आपको लगेगा कि अगर कोई गंजा है तो जैसे उसने अपराध कर लिया हो लेकिन फिल्म के इनमें एंडिंग बहुत अच्छे से की गई है.

Who is Wrong?

जिसके कारण लोगों को समझ में आया कि जो चीजें खाली दिखावटी है इंसान का व्यवहार ही सबसे बड़ी चीज होती है क्योंकि कोई इंसान किसी के दिखावटी शरीर के साथ कुछ पल खुश रह सकता है, लेकिन जीवन भर नहीं अगर आपको किसी के साथ पूरी जिंदगी खुशहाल रूप में बितानी है तो आप का और उसका व्यवहार अच्छा होना चाहिए जिससे आपके भी मिलनसार बढ़ता है और इसी कारण आपको जीवन में एक दूसरे के प्रति प्यार का अनुभव होता है.

देखिए अंत में मैं आपसे यही कहूंगा कि हमें अपने आस-पड़ोस या फिर परिवार के किसी भी सदस्य के साथ भेदभाव नहीं करना चाहिए चाहे वह बुड्ढा हो जवान हो या फिर कोई लड़की को हमें आपस में किसी भी प्रकार का मनमुटाव नहीं रखना चाहिए इससे आप का मन भी बिगड़ता है और आपके कर्म भी यह ऐसे होता है.

You may also like- Sukanya Samriddhi Yojana 

What is Digital Marketing?

What is Blogging?

माना किसी ने आपको सुबह कुछ कह दिया तो आप उस बात को लेकर पूरे दिन भर सोचते हो जिससे आपका काम नहीं हो पाता है तो हमेशा याद रखें अगर किसी ने कोई लाभ आपको कह दिया हो तो उसे वहीं पर रहने दें आपका मन भी हल्का रहेगा और आप अपने कार्य को पूरी लगन के साथ कर पाएंगे.

Leave a Comment